First Indian Insurance Company LIC of India भारतीय जीवन बीमा निगम

First Indian Insurance Company, भारतीय जीवन बीमा निगम देश की पहली इंश्योरेंस कंपनी है. इसके साथ ही भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी और निवेशक कंपनी भी है.

भारतीय जीवन बीमा की स्थापना 1 सितंबर 1956 में हुआ था जिसका मुख्यालय भारत के राजधानी मुंबई में स्थित है. भारतीय जीवन बीमा निगम मुख्य रूप से जीवन बीमा, स्वास्थ्य बीमा, निवेश बीमा, और म्यूच्यूअल फंड में काम करती है.

भारतीय जीवन बीमा के सहायक कंपनी में आईडीबीआई बैंक, एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस, एलआईसी पेंशन फंड लिमिटेड, एलआईसी इंटरनेशनल, एलआईसी कार्ड सेवा, और एलआईसी म्यूचुअल फंड शामिल है.

कोई भी कंपनी या कोई भी व्यक्ति रातों-रात बड़ा या बहुत बड़ा नहीं हो जाता है. किसी कंपनी या किसी व्यक्ति के विकास में काफी समय लग जाता है. ठीक ऐसा ही भारतीय जीवन बीमा निगम कंपनी के साथ भी हुआ, यह आज से नहीं बल्कि 1956 से भारतीय बाजार में है.

भारतीय जीवन बीमा के कुल संपत्ति की बात करें तो 31,11,847 करोड़ रुपए मतलब 454.33 यूएस बिलियन डॉलर है. भारतीय जीवन बीमा निगम भारत सरकार के स्वामित्व में काम करती है.

first indian insurance company
first indian insurance company

What is Insurance in Hindi – बीमा क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

भारतीय जीवन बीमा निगम का इतिहास

भारत की सबसे पहली जीवन बीमा कंपनी ओरिएंटल जीवन कंपनी है जिसका शुरुआत कोलकाता में विभिन्न दासगुप्ता और अन्य लोगों के द्वारा किया गया था.

समय के साथ कई और कंपनी का भारतीय बाजार में जीवन बीमा का काम करने लगी. भारतीय संसद में 29 जून 1956 को भारतीय जीवन बीमा विधेयक पारित किया. जिसके तहत 1 सितंबर 1956 को भारतीय जीवन बीमा निगम अस्तित्व में आ गया.

भारतीय जीवन बीमा व्यापार का राष्ट्रीयकरण औद्योगिक नीति शंकर 1956 का ही परिणाम है.

आजादी से पहले सन 1938 तक भारत में 176 बीमा कंपनी काम कर रही थी. इस दौरान देश में इंश्योरेंस अधिनियम 1938 पास किया गया था और इसी अधिनियम में जीवन बीमा और सामान्य बीमा दोनों पैर होते थे.

Hdfc Mutual Fund Customer Care 180030106767

जीवन बीमा निगम इंश्योरेंस सेवा

भारतीय जीवन बीमा निगम कई तरह की इंश्योरेंस सेवा देती है. शुरुआती समय में भारतीय जीवन बीमा सिर्फ जीवन बीमा बेजती थी. आज के समय में एलआईसी स्वास्थ्य बीमा जीवन बीमा पेंशन प्लान माइक्रो इंश्योरेंस प्लान और विड्रा प्लान भी बेच रही है.

यदि कोई भी व्यक्ति जीवन बीमा खरीदने की सोचता है तो सबसे पहले उसके मन मस्तिष्क में एलआईसी का ही नाम आता है. इसका वजह यह देश की सबसे विश्वसनीय इंश्योरेंस कंपनी में से एक नहीं बल्कि यह देश की सबसे विश्वसनीय इंश्योरेंस कंपनी है.

एल आई सी से इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट या किसी एलआईसी एजेंट से संपर्क कर सकते हैं. एलआईसी इंश्योरेंस पॉलिसी की जानकारी के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर पूछ सकते हैं.

इन्वेस्टमेंट करने से पहले सभी बातों की जानकारी ले लेनी चाहिए कि हम जिस किसी भी फंड में या जिस किसी भी कंपनी के साथ इन्वेस्टमेंट करने जा रहे हैं हमारा इन्वेस्टमेंट वहां कितना सुरक्षित है?

एलआईसी के विश्वसनीय होने का वजह यहां लोगों का पैसा सुरक्षित है. इंश्योरेंस कंपनी में क्लेम सेटेलमेंट रेशियो के आधार पर कंपनी का गुणवत्ता तय किया जाता है.

एलआईसी का क्लेम सेटेलमेंट रेशियो लगभग 98 परिषत तक रहता है. यही वजह है की एल आई सी देश कि सर्वश्रेष्ठ इंश्योरेंस कंपनी है.

वक्रांगी का ग्राहक सेवा केन्द्र कैसे खोलें?

एलआईसी का सबसे अच्छा प्लान

एलआईसी के पास कई प्लान है, जिसमें से कुछ इंश्योरेंस प्लान बहुत अच्छा है. वैसे तो मार्केट में कई कंपनी है जो टर्म इंश्योरेंस बेचती है. लेकिन एलआईसी का टर्म इंश्योरेंस प्लान सबसे बेहतर है.

एलआईसी की सबसे अच्छी पॉलिसी एलआईसी टर्म टेक प्लान 854 है. एलआईसी के सभी टर्म प्लान में से सबसे यह सबसे सस्ता टर्म प्लान है.

इस पॉलिसी को 18 से 65 साल के लोग खरीद सकते हैं. इसमें कम से कम 50,00,000 की पॉलिसी लेनी होती है. यह पॉलिसी कम से कम 10 साल और अधिकतम 40000 साल तक के लिए ले सकते हैं.

यह पॉलिसी 80 साल की उम्र तक काम करती है. वैसे तो लगभग सभी इंश्योरेंस पॉलिसी में व्यक्ति का खुद का आमदनी होना चाहिए. इस पॉलिसी को भी खरीदने के लिए व्यक्ति का खुद का आमदनी होना जरूरी है.

इस पॉलिसी में प्रीमियम जमा करने के लिए तीन विकल्प दिया जाता है. पहला जिसमें रेगुलर प्रीमियम जमा करना होता है मतलब जितने साल तक के लिए पॉलिसी है उतने साल तक आपको प्रीमियम जमा करना होता है.

दूसरा लिमिटेड समय दिया जाता है जिसमें 5 साल या 10 साल तक प्रीमियम जमा करना होता है. तीसरा जिसमें सिंगल प्रीमियम पेमेंट होता है.

इस पॉलिसी की सबसे बड़ी खासियत इसमें डेथ बेनिफिट मिलता है. बीमा धारक के मृत्यु के बाद एकमुश्त या पांच दस और पन्द्रह साल के गैप में पूरा पैसा बीमा धारक के नॉमिनी को दे दिया जाता है.

यह एक टर्म प्लान है इसलिए बीमा धारक को कोई मैच्योरिटी नहीं मिलता है.

What is Micro Finance full guide in Hindi माइक्रो फाइनेंस क्या होता है?

एलआईसी से जीवन बीमा कैसे करवाएं

एलआईसी से जीवन बीमा पोलिसी खरीदने के लिए एलआईसी की वेबसाइट पर जा सकते हैं या किसी एलआईसी एजेंट से संपर्क कर सकते हैं. विशेष जानकारी के लिए 8700282908 पर संपर्क कर सकते हैं.

पोलिसी खरीदने का सबसे अच्छा विकल्प किसी एजेंट से खरीदना चाहिए. इससे आने वाले समय कोई परेशानी होने पर एजेंट बीमाधारक या नोमिनी के साथ हमेशा होता है.

कुछ लोग बीमा खरीदते समय ऑनलाइन खरीदते हैं लेकिन, जब कोई परेशानी हो जाता है तो किसी एजेंट का सहारा लेते हैं. इसीलिए हमेशा किसी एजेंट की मदद से बीमा खरीदना चाहिए.

बीमा किसी एजेंट के मदद से ख़रीदा गया हो या ऑनलाइन ख़रीदा गया है किस्त एक सामान ही देना होता है. कुछ दिन पहले सभी बीमा कंपनी ऑनलाइन बीमा बेचना शुरू की थी और आज भी बेच रही है. लेकिन, बेहतर सुविधा के लिए एजेंट से ही खरीदें.

History Of Insurance In The World In Hindi – बीमा का इतिहास

कम आमदनी वालों के लिए

कम आमदनी वालों के लिए LIC का सबसे सस्ता प्लान, महीने में 500 रुपये चुकाकर पाएं 2 लाख. इस पॉलिसी को लेने की तारीख से 20 साल पूरे होने के बीच अगर पॉलिसी होल्डर की मौत हो जाती है, तो परिवार के किसी नॉमिनी को 1.5 लाख रुपये मिलेंगे. साथ में लॉयल्टी एडिशन भी मिलेगा. यह इस बात पर निर्भर करेगा कि पॉलिसी कितने साल तक चली है.

एलआईसी का एक स्कीम आधार स्तंभ है जो सिर्फ पुरुषों के लिए ही है. इसी पोलिसी के तर्ज पर महिलाओं के लिए आधारशिला पोलिसी है. इसे कम आमदनी वाले लोगों को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है.

इसमें ऑटो कवर की सुविधा है जिसमें यदि किसी कारणवश प्रीमियम नहीं भर पाते हैं, तब भी प्रीमियम अपने आप जमा होने का विकल्प होता है.

इसके लिए शर्त है कि पॉलिसी कम से कम 3 साल चली होनी चाहिए. 3 साल से अधिक और 5 साल से कम अवधि के लिए 6 महीने का ऑटो कवर मिलता है. अगर 5 साल से ज्यादा पॉलिसी चला ली तो एक वर्ष के लिए ऑटो कवर मिलता है.

आधार स्तंभ रेगुलर प्रीमियम पेमेंट पॉलिसी का प्लान है. यानी कि जितने वर्ष के लिए पॉलिसी लेंगे, उतने साल तक प्रीमियम चुकाना होगा. इस पॉलिसी को कम से कम 10 साल और अधिकतम 20 साल के लिए ले सकते हैं.

हर महीने 500 रुपये का प्रीमियम 20 तक जमा करने पर 20 साल के बाद सम एस्योर्ड की राशि 1.5 लाख रुपये मिलेगा. इसके बाद लॉयल्टी एडिशन 48,750 रुपये मिलता है

कुल मिलाकर हर महीने 500 रुपया 20 साल तक जमा करने से 1,98,750 रुपये मिल जाता है. इस तरह महीने का 500 रुपये बचत 2 लाख रुपये में बदल जाती है.

इस पॉलिसी को लेने की तारीख से 20 साल पूरे होने के बीच अगर पॉलिसी होल्डर की मौत हो जाती है, तो नॉमिनी को 1.5 लाख रुपये के साथ लॉयल्टी एडिशन भी मिलता है. लॉयल्टी एडिशन इस बात पर निर्भर करता है की पोलिसी कितना साल चलाया गया है.

You May Also Read

What is Ayushman Bharat Yojana in Hindi (ABY)?

शेयर मार्केट (Share Market) क्या है? Financial Guide in Hindi

Banking Terminology in Hindi बैंकिंग में इस्तेमाल होने वाला कुछ महत्वपूर्ण शब्द

What is CIBIL SCORE in Hindi सिबिल स्कोर क्या है?

Conclusion

यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो Spread the love Please Share...

Leave a Reply

Your email address will not be published.