Top 10 Best Micro Finance Companies List in India

Top 10 Best Microfinance Companies List in India, देश के अंदर कई माइक्रो फाइनेंस कंपनी सुचारू रूप से अपना काम कर रही है. आज कि जानकारी में हमने दस सर्वश्रेष्ठ माइक्रो फाइनेंस कंपनी के बारें में जानेंगें.

माइक्रो फाइनेंस कंपनी का काम लोगों को आसानी से लोन मुहैया करवाना है. जिससे वह आपने कारोबार को आगे बढ़ा सकें, बच्चों कि पढाई करवा सके.

माइक्रो फाइनेंस से लोन लेना बैंक में खाता खुलवाने जितना आसान है. बैंक में खाता खुलवाने में ज्यादा समय और ज्यादा मसक्कत लग सकता है. लेकिन, माइक्रो फाइनेंस कंपनी से लोन लेना बहुत आसान है.

लोन की प्रक्रिया आसान रखने के साथ किस्त चुकाने के प्रक्रिया को भी आसान रखा गया है. जैसे बैंक में मासिक किस्त जमा करना होता है. लेकिन, यहां साप्ताहिक किस्त जमा करना होता है.

माइक्रो फाइनेंस कंपनी का कारोबार ग्रामीण और शहरी दोनों ही क्षेत्रों में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है. इसी को देखते हुए कई माइक्रो फाइनेंस कंपनी बाज़ार में अपना बाज़ार तलाश रही है.

यहां हमने Top 10 Microfinance Company List सझा किया है. जिससे भविष्य में लोन लेने की जरूरत हो तो इनमें से कसी भी कंपनी से ले सकते हैं.

top 10 microfinance company list
top 10 microfinance companies list

Microfinance Company kya Hai माइक्रो फाइनेंस कंपनी क्या है

Microfinance Company बैंक के तरह ही काम करती है. बैंक में खाता खुलवाना, जमा, निकासी, ड्राफ्ट, नेफ्ट, आर टी जी एस, लोन यह सब काम होता है. लेकिन, माइक्रो फाइनेंस कंपनी के अंतर्गत सिर्फ लोन देने का काम किया जाता है.

यहां पैसा जमा करने का सुविधा उपलब्ध नहीं है. पैसा जमा निकासी के लिए बैंक का ही सहारा लेना होता है. इस कंपनी के सहायता से पैसा भी कहीं नहीं भेज सकते हैं.

माइक्रो फाइनेंस कंपनी के साथ लेन देन करने से कुछ लोगों को डर लगता है. लेकिन, यहां डरने की कोई बात नहीं है. क्यूंकि, यहां पैसा जमा नहीं होता है.

यह कंपनी सिर्फ लोन देती है और और उसके ब्याज से अपना कमाई करती है. इसका ब्याज दर बैंक की तुलना में बहुत ज्यादा होता है. अच्छी बात यह है की यहां लोन लेने के लिए बहुत ज्यादा मसक्कत नहीं करना होता है.

यहां से सिर्फ महिलाओं के समूह को ही लोन दिया जाता है जो इस कंपनी की सबसे बड़ी खासियत है. महिलाओं के समूह को लोन देने से कंपनी का पैसा डूबता नहीं है.

माइक्रो फाइनेंस कंपनी क्या है? इसके बारें विस्तृत जानकारी बहुत पहले ही दिया जा चुका है. यदि अभी तक आपने इस जानकारी को नहीं पढ़ा है तो जरूर पढ़िए.

Hdfc Mutual Fund Customer Care 180030106767

माइक्रो फाइनेंस कंपनी कैसे काम करती है

इस कंपनी के काम करने का तरीका बहुत ही आसान लेकिन, कठिन है. लोन लेने वाले की बात करें तो उन्हें बहुत ही कम समय में लोन मिल जाता है इसीलिए यह उनके लिए बहुत अच्छा है.

कंपनी छोटा लोन देती है जिस वजह से उन्हें कागजी कार्यवाही बहुत रखना होता है. यहां बिना किसी गिरवी के लोन दिया जाता है जो कंपनी के थोड़ा रिस्क का काम है.

यह रिस्क कम करने के लिए इस तरह की कंपनी सिर्फ महिओं के समूह को ही लोन देने का काम करती है. महिलाओं के समूह को लोन देने का मकसद पैसा सुरक्षित करना है.

इस कंपनी कि सबसे बड़ी खासियत भी यही है की यहां 90 प्रतिशत से ज्याद लोन ब्याज सहित कंपनी को चुका दिया जाता है. यदि कोई एक महिला लिया गया लोन नहीं भर पति है तो सभी को मिलकर वो रकम कंपनी को देना होता है.

ग्रामीण स्तर पर काम करने के लिए कंपनी को कई फिल्ड स्टाफ भी रखना होता है. क्यूंकि, बैंक में लोन लेने के लिए बैंक जाना होता है जबकि यहां कंपनी का फिल्ड ऑफिसर घर आकार लोन देता है और साप्ताहिक किस्त भी लेने आटा है.

भारतीय अर्थव्यवस्था में इस कंपनी का बहत बड़ा योगदान है. जबसे माइक्रो फाइनेंस अस्तित्व में आया है रोजगार का काफी सृजन हुआ है.

एक बार लोन राशि ब्याज सहित समय पर चुका देने से अगली बार ज्यादा रकम का लोन मिल जाता है. इस लोन की मदद से लोअग व्यापार को आगे बढ़ा रहे हैं.

कुछ लोग माइक्रो फाइनेंस से लोन लेकर घर भी बना रहे हैं. इनसे लाओं लेने वाले महिलाओं का कहना हमने इसलिए लोन लिया ताकि भविष्य में मुझे और बड़ा लोन मिल सके.

वक्रांगी का ग्राहक सेवा केन्द्र कैसे खोलें?

Working Model of Microfinance Companies

माइक्रोफाइनेंस संस्थानों (एमएफआई) को अपना संचालन शुरू करने के लिए आरबीआई से लाइसेंस की आवश्यकता होती है. एमएफआई एक लाख रुपये तक का बिना गिरवी का ऋण देने का काम करती है.

छोटे व्यवसायों या व्यक्तियों को 25,000, 50,000, कुछ मामलों में 1,00,000 रूपये तक का भी लोन देती है. माइक्रोफाइनेंस कंपनी अग्रणी बैंक से लोन लेकर आपने ग्राहकों को लोन देने का कम करती है.

यहां से लोन लेना बैंक से लोन लेने की तुलना में ज्मायादा महंगा है. इसका ब्याज दर 20% से 30% तक होता है. कभी कभी ऐसा लगता है जैसे किसी सूदखोर से ब्याज पर पैसा लिया गया है.

सूदखोर से तुलना किया जाये तो तो यह उनसे ज्यादा बेहतर है. माइक्रो फाइनेंस कंपनी के वर्किंग मॉडल की बात करें तो यह दो तरीके से काम करती है जिसका विवरण नीचे दिया गया है.

Self Help Group (SHG)

स्वयं सहायता समूह समान सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि वाले छोटे उद्यमियों का एक अनौपचारिक समूह होता है. महिलाओं सहित छोटे उद्यमी अपने व्यवसाय की आपातकालीन जरूरतों को पूरा करने के लिए एक साझा कोष बनाने के लिए एक साथ आते हैं.

SHG एक बचत उन्मुख समूह है. जो महिलाओं के समूहों को आसान तरीके से आसान किस्तों के साथ ऋण उपलब्ध करवाती है. माइक्रोफाइनेंस कंपनी के फिल्ड ऑफिसर घर घर जाकर समूह निर्माण करते हैं फिर लोन देने का काम करते हैं.

ये समूह आम तौर पर गैर-लाभकारी आत्मनिर्भर संगठन होते हैं. कर्ज वसूली की जिम्मेदारी समूह खुद संभालता है. क्यूंकि यह ऋण समूह में दिया जाता है और यही इस ऋण का खासियत है.

स्वयं सहायता समूहों को नाबार्ड और सिडबी जैसे बैंक से क्रेडिट पर पैसा मिलता है जब वे स्थिर हो जाते हैं और अपने उधारकर्ताओं के नियमित भुगतान का ट्रैक रिकॉर्ड पेश करते हैं.

Joint Liability Group (JLG)

Joint Liability Group को हिंदी में संयुक्त देयता समूह कहते हैं. माइक्रोफाइनेंस के लिए संयुक्त देयता समूह (JLG) की अवधारणा नाबार्ड द्वारा शुरू की गई थी. 

JLG 4 से 10 छोटे किसानों, ग्रामीण उद्यमियों, या एक ही सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि वाले एक ही गांव/मोहल्ले के लोगों का समूह होता है.

JLG का गठन एक माइक्रोफाइनेंस कंपनी से बिना किसी संपार्श्विक से ऋण प्राप्त करने के उद्देश्य से किया गया है. JLG आय सृजन, गतिविधि-उन्मुख समूहों के लिए कर्तव्य बद्ध है.

माइक्रोफाइनेंस कंपनियां एक JLG को दो तरह से फाइनेंस कर सकती हैं

  • समूह को सीधे वित्तपोषण (पूरे समूह को)
  • समूहों में व्यक्ति को वित्तपोषण (सभी व्यक्ति को)

हालाँकि, दोनों ही मामलों में, JLG के सभी सदस्य ऋण राशि को चुकाने के लिए जिम्मेदार हैं. यह मैं ऊपर ही बता चुका हूं यहीं इस कंपनी कि खाशियत है और इसी वजह से इन कंपनी का रिकवरी रेट बैंक से ज्यादा बेहतर है.

History Of Insurance In The World In Hindi – बीमा का इतिहास

Top 10 Best Microfinance Companies List in India

अब तक आप माइक्रोफाइनेंस से जुड़ी कई बात जान चुके हैं. यदि कोई प्रश्न है तो नीचे कमेन्ट बॉक्स में जरूर पूछिए. इस लेख का मुख्य मकसद भारत में काम करने वाली सर्वश्रेष्ठ माइक्रोफाइनेंस कंपनी की जानकारी देना है.

नीचे हमने देश में काम कर रही Top 10 Microfinance Companies List साझा किया है.

Ujjivan Small Finance Bank

ujjivan small finance bank
Ujjivan Small Finance Bank

Ujjivan Small Finance Bank देश की अग्रणी माइक्रोफाइनेंस कंपनी में से एक है. उज्जीवन फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (यूएफएसएल) 2005 से कार्यरत है.

कंपनी को उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक शुरू करने के लिए अक्टूबर 2015 में आरबीआई से लाइसेंस प्राप्त मिला. उज्जीवन बैंक आर्थिक रूप से गरीबों को वित्तीय सेवाओं की एक पूरी श्रृंखला प्रदान करती है. 

उज्जीवन बैंक सूक्ष्म ऋण व्यक्तिगत ऋण और समूह ऋण जैसी सुविधा देती है. उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक 24 राज्यों में 4.9 मिलियन (49 लाख) से अधिक ग्राहक के साथ काम कर रही है. 

Bandhan Bank Limited

bandhan bank
Bandhan Bank

बंधन बैंक को पहले बंधन फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के रूप में जाना जाता था. यह देश की सबसे बड़ी माइक्रोफाइनेंस कंपनी में अपना नाम बना चुकी है.

आज के सन्दर्भ में बात करें तो अप्रैल 2014 में आरबीआई से बैंकिंग लाइसेंस प्राप्त कर बंधन बैंक लिमिटेड के पास 4559 बैंकिंग शाखा के साथ 2.01 करोड़ ग्राहकों तक अपना पहुंच बना चुकी है.

बंधन बैंक लिमिटेड अभी भी ग्रामीण और कम आय वाले लोगों को सामूहिक ऋण देने का कम कर रही है. मार्च 2020 तक कुल अग्रिम पोर्टफोलियो 71,846 करोड़ रूपये का था.

बंधन बैंक कई तरह का ऋण देने का काम करती है.

  • सुचना सूक्ष्म ऋण
  • Suraksha
  • सु-वृद्धि सूक्ष्म ऋण
  • सृष्टि सूक्ष्म ऋण
  • सुशिक्षा सूक्ष्म ऋण
  • Samadhan loan

Suryoday Small Finance Bank

suryoday small finance bank
Suryoday Small Finance Bank

सूर्योदय लघु वित्त बैंक की उत्पत्ति सूर्योदय माइक्रोफाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड में हुई है. आठ साल के माइक्रोफाइनेंस के बाद, कंपनी ने जनवरी 2017 में अपना बैंकिंग परिचालन भी शुरू कर लिया है.

सूर्योदय का उद्देश्य समाज के वंचित और गरीब लोगों के लिए सर्वोत्तम बैंकिंग समाधान लाना और अपने माइक्रोफाइनेंस ऋण को जारी रखना है.

सूर्योदय आय-सृजन गतिविधियों के लिए संयुक्त देयता समूह ऋण पर कार्य करता है. यह मैं कई बार बता चुका हूं, इस तरह कि कंपनी और बैंक ज्यादातर समूह को लोन देती है.

First Indian Insurance Company LIC of India भारतीय जीवन बीमा निगम

Equitas Small Finance Bank

equitas small finance bank
Equitas Small Finance Bank

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 2007 में 4 शाखाओं के साथ माइक्रोफाइनेंस कारोबार शुरू किया था. 2015 में, इक्विटास को एक लघु वित्त बैंक शुरू करने के लिए आरबीआई की मंजूरी मिली और देखते ही देखते यह भी अपना नाम देश की सवर्श्रेष्ठ माइक्रोफाइनेंस कंपनी में अपना नाम शामिल कर लिया.

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक अभी भी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) और निम्न-आय वर्ग (एलआईजी) के लोगों को आर्कोथिक सहायता देने का काम कर रही है.

इसका मकसद छोटे कारोबारियों के लिए आय सृजन करने का है जिससे रोजगार को बढ़ावा मिल सके. आय सृजन के उद्देश्य से यह 5000 रूपये से लेकर 50000 रूपये तक तक का ऋण देती है.

CreditAccess Grameen Limited

credit access grameen limited
CreditAccess Grameen Limited

क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण की कल्पना सबसे पहले श्रीमती विनाथा एम. रेड्डी ने की थी और मई 1999 में दक्षिण बैंगलोर में टी. मुनीस्वमप्पा ट्रस्ट के तहत एक परियोजना के रूप में स्थापित किया गया.

समय के साथ, ट्रस्ट की माइक्रोफाइनेंस गतिविधियों को क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण कंपनी में स्थानांतरित कर दिया गया.

माइक्रोफाइनेंस कंपनी महिलाओं के उत्थान पर ध्यान देने के साथ भारत के गरीब और कम आय वाले परिवारों को समय पर और किफायती ऋण की आवश्यकता को पूरा करती है.

क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण देश के अंदर 230 से ज्यादा जिले में 900 से अधिक शाखाओं और 29 लाख से अधिक उधारकर्ता के साथ काम कर रही है. 

क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण आय सृजन ऋण, गृह सुधार, आपातकालीन और परिवार कल्याण ऋण प्रदान करने का कम करती है. यह महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने काम काम कर रही है.

Annapurna Finance (P) Ltd

annapurna finance
Annapurna Finance (P) Ltd

अन्नपूर्णा फाइनेंस की स्थापना 2009 में माइक्रोफाइनेंस के तहत गरीब महिलाओं को ऋण देने के उद्देश्य से किया गया था. जिससे महिला शाश्क्तिकरण को बढ़ावा मिल सके.

अन्नपूर्णा फाइनेंस एसएचजी और जेएलजी दोनों मॉडल में काम करती है. यह कंपनी 718 शाखाओं के माध्यम से 19 लाख ग्राहकों तक पहुंच गई है. इसका ऋण पोर्टफोलियो 4000 करोड़ का है. 

अन्नपूर्णा फाइनेंस 2013 में एक माइक्रोफाइनेंस कंपनी के रूप में पंजीकृत हुई और कई तरह की ऋण सुविधा देती है.

  • समूह ऋण
  • एमएसएमई वित्त
  • आवास वित्त
  • माइक्रो क्रेडिट 
  • व्यापार ऋण

Fusion Microfinance Private Limited

fusion microfinance
Fusion Microfinance Private Limited

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस का उद्देश्य वंचित महिलाओं को उनके जीवन की गुणवत्ता को बदलने के लिए आर्थिक अवसर प्रदान करना है.

दिल्ली स्थित फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी की स्थापना 2010 में हुई थी और यह ग्रामीण इलाके में संयुक्त देयता समूह उधार मॉडल में काम करती है. 

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में रहने वाली महिलाओं को आय-सृजन करने वाले सूक्ष्म ऋण और आपातकालीन ऋण प्रदान करता है. 

यह कंपनी अधिकतम 60000 रूपये तक का ऋण प्रदान करती है.

What is Insurance in Hindi – बीमा क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

Sonata Finance Private Limited

sonata finance
Sonata Finance Private Limited

सोनाटा फाइनेंस एक लखनऊ स्थित माइक्रोफाइनेंस कंपनी है जो ग्रामीण, अर्ध-शहरी और शहरी समुदायों की गरीब महिलाओं को सक्षम बनाने के लिए वित्तीय संसाधन प्रदान करती है.

माइक्रोफाइनेंस कंपनी एक स्केलेबल और बढ़ता हुआ व्यवसाय विकसित कर रही है जिसमें बड़ी संख्या में गरीब परिवार शामिल हैं. सोनाटा फाइनेंस का ऋण पोर्टफोलियो 1600 करोड़ रूपये का है. इसके साथ ही यह 488 से ज्यादा शाखाओं के साथ काम आकर रही है.

सूक्ष्म ऋणों में आय सृजन, स्वच्छता, गृह सुधार, दोपहिया और उपयोगिता ऋण के लिए व्यक्तिगत और समूह दोनों ऋण शामिल हैं. यह केवल संयुक्त-देयता मॉडल पर काम करती है.

Muthoot Microfin Limited

muthoot finance limited
Muthoot Microfin Limited

मुथूट माइक्रोफिन लिमिटेड मुथूट पप्पाचन समूह की बड़ी माइक्रोफाइनेंस शाखा है. माइक्रोफाइनेंस कंपनी देश के ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान देने के साथ महिला उद्यमियों को सूक्ष्म ऋण प्रदान करती है.

मुथूट माइक्रोफिन लिमिटेड माइक्रोफाइनेंस के संयुक्त देयता समूह मॉडल पर काम करती है और विशेष रूप से निम्न-आय वाले घरों में महिलाओं को ऋण देने का काम करती है. 

यहां से आय और रोजगार सृजन के लिए डेयरी, जीवन सुधार के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता जैसे ऋण ले सकते हैं. यह केवल ग्रामीण महिलाओं को ऋण देने का काम करती है.

Arohan Financial Services

arohan finance
Arohan Financial Services

आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड एक कोलकाता स्थित माइक्रोफाइनेंस कंपनी है जो आविष्कार-इंटेलकैप ग्रुप का एक हिस्सा है.

आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज वित्तीय सेवाओं की एक श्रृंखला के माध्यम से वंचितों को सशक्त बनाने के मिशन पर काम कर रही है. कंपनी का बकाया ऋण पोर्टफोलियो है 4857 करोड़ के साथ 10 राज्यों में 711 शाखाओं के माध्यम से काम कर रही है.

आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज माइक्रोफाइनेंस ऋण और एमएसएमई ऋण सेवाएं भी प्रदान करती है. ऋण के उद्देश्यों में व्यापार और सेवाओं के लिए ऋण मुहैया करवाती है.

You May Also Read

What is Ayushman Bharat Yojana in Hindi (ABY)?

शेयर मार्केट (Share Market) क्या है? Financial Guide in Hindi

Banking Terminology in Hindi बैंकिंग में इस्तेमाल होने वाला कुछ महत्वपूर्ण शब्द

What is CIBIL SCORE in Hindi सिबिल स्कोर क्या है?

Summary

माइक्रोफाइनेंस कंपनियां ग्रामीण युवाओं, महिलाओं और खासकर उन लोगों कि ऋण देने का काम कर रही है जिनके पास बैंक खाता भी नहीं है.

यह समाज के वंचित और असहाय लेकिन, मेहनती लोगों को आर्थिक मदद कर रही है जिससे रोजगार का सृजन हो सके. गांव के लोग अक्सर सूदखोर पर निर्भर रहते थे लेकिन, अब ऐसा नहीं है.

सूदखोर गरीबों का शोषण करते थे लेकिन, अब इनसे छुटकारा मिल गया है. यदि समय पर लोन चुका दिया जाता है तो अगली बार बड़ी रकम का लोन मिल जाता है.

यहां से मिलने वाले लोन का ब्याज दर बैंक कि तुलना में थोड़ा ज्यादा होता है. क्यूंकि microfinance company पहले बैंक से लोन लेती है फिर आपने ग्राहकों को लोन देती है.

संक्षेप में, माइक्रोफाइनेंस कंपनियां ग्रामीण और आधुनिक भारत के बीच सामाजिक और आर्थिक अंतर को पाटने की हर संभव कोशिश कर रही है.

यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो Spread the love Please Share...

Leave a Reply

Your email address will not be published.